Breaking News

चॉपर क्रैश पर संसद को राजनाथ सिंह ने दी जानकारी, बताया पूरा घटनाक्रम


नई दिल्ली:

बुधवार को तमिलनाडु के कुन्नूर में वायुसेना का चैपर हादसे का शिकार हो गया। हादसे में देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत के साथ 11 अन्य सैन्य अधिकारियों का निधन हो गया। इस हादसे के बारे में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने संसद को जानकारी दी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में हादसे की जानकारी देते हुए सीडीएस और हादसे में मारे गए सभी लोगों को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम ओम बिरला ने भी हादसे में जान गंवाने वाले सभी लोगों को श्रद्धांजलि दी।

लोकसभा और राज्यसभा में हादसे पर बयान देते हुए रक्षामंत्री ने कहा- जनरल रावत, एक कार्यक्रम को संबोधित करने के लिए शेड्यूल्ड विजिट पर थे। रक्षा मंत्री ने कहा कि बुधवार को 11.48 बजे एमआई-17 हेलिकॉप्टर से उड़ान भरी। इसे 12.15 मिनट पर वेलिंग्टन में लैंड करना था, लेकिन 12.08 बजे हेलिकॉप्टर से संपर्क टूट गया। बाद में कुछ लोगों ने इस हेलीकॉप्टर को आग की लपटों में देखा। स्थानीय प्रशासन का एक बचाव दल पहुंच गया। उस अवशेष से जितने भी लोगों को निकाला गया, उन्हें वेलिंगटन के सैन्य अस्पताल पहुंचाया गया। हादसे में 14 में से 13 लोगों की मौत हो गई।

सिंह ने बताया कि इस घटना में जनरल बिपिन रावत,मधुलिका रावत (जनरल रावत की पत्नी),ब्रिगेडियर एल. एस. लिद्दर,लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह,विंग कमांडर पी. एस. चौहान,स्क्वॉड्रन लीडर के. सिंह,जेडब्ल्यूओ दास,जेडब्ल्यूओ प्रदीप ए., हवलदार सतपाल, नायक गुरसेवक सिंह, नायक जितेंद्र कुमार, लांस नायक विवेक कुमार और लांस नायक साइ तेजा का निधन हुआ।

सिंह ने कहा कि सीडीएस जनरल बिपिन रावत का अंतिम संस्कार पूरे सैन्य सम्मान के साथ किया जाएगा। अन्य सैन्य कर्मियों का अंतिम संस्कार उचित सैन्य सम्मान के साथ किया जाएगा। इसके साथ ही लोकसभा ने दुर्घटना पर दो मिनट का मौन रखा. लोकसभा में बयान देने के बाद रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने राज्यसभा में भी बयान दिया।

No comments